इंद्रप्रस्थ विश्व संवाद केन्द्र


नई दिल्ली, 28 नवम्बर। महिलाओं के सबसे बड़े संगठन राष्ट्र सेविका समिति दिल्ली द्वारा वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई की जयंती के उपलक्ष्य में “मणिकर्णिका 2021 , एक निरंतर दौड़ - देश के लिए ” का आयोजन किया गया। दिल्ली में समिति के केशव पुरम विभाग और महाविद्यालयों में शिक्षा प्राप्त कर रही छात्राओं के लिए बने तरुणी विभाग के संयुक्त तत्वावधान में पश्चिमी दिल्ली के हरी नगर स्थित लीलावंती सरस्वती विद्यालय में इस मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया. दो वर्गो में आयोजित दौड़ में 14 वर्ष से 20 वर्ष की आयु वर्ग में 100 मीटर दौड़ में प्रथम स्थान सौम्या को प्राप्त हुआ व द्वितीय स्थान पर दीपा रही तथा तृतीय स्थान दृष्टि को प्राप्त हुआ। 200 मीटर दौड़ में 20 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में प्रथम स्थान पर शिवानी रही ,   द्वितीय स्थान पर रीमा तथा तृतीय स्थान पर संजना रहीं। विजेताओं को मेडल व सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया गया। राष्ट्र सेविका समिति के केशवपुरम विभाग , झंडेवालान विभाग तथा उत्तरी विभाग की लगभग 200 बालिकाओं व युवतियों ने रानी लक्ष्मीबाई की वीरता को याद कर मैराथन दौड़ में भाग लिया।

 

इस अवसर पर   मुख्य वक्ता के नाते आमंत्रित मेधाविनी सिंधु सृजन की संयोजिका व दीन दयाल उपाध्याय कॉलेज में प्रोफ़ेसर डॉ. निशा राणा ने कहा कि वर्तमान समय की पुकार है कि प्रत्येक बालिका महारानी लक्ष्मीबाई के व्यक्तित्व को समझे और उनका अनुकरण करे। समाज में आईं कुरीतियाँ बालिकाओं में रानी लक्ष्मी बाई के वीरता के गुण समाहित करके दूर की जा सकती हैं. राष्ट्र सेविका समिति यह कार्य बालिकाओं को प्रशिक्षित कर के कर रही है।

 

कार्यक्रम में देश-प्रेम और वीरता से भरे महारानी लक्ष्मीबाई को समर्पित गीत प्रस्तुत किए गए। एक लघु नाटिका व नृत्य नाटिका का भी आयोजन इस दौरान किया गया, जिसमें महारानी लक्ष्मीबाई के जीवन , व्यक्तित्व, कृतित्व को दर्शाया गया।

 

इस अवसर पर समाज सेविका व फैशन डिजाइनर अनुपमा सूद ,   नेशनल एथलीट 100 मीटर के प्रथम विजेता प्रवीण सांगवान , अटारी बॉर्डर से इंडिया गेट तक की दौड़ के रिकॉर्डधारी मनोज कुमार , नेशनल एथलीट व फेयर एंड ग्लो की ब्रांड एंबेसडर मुस्कान , केशवपुरम विभाग कार्यवाहिका रजनी मेहता , प्रांत कार्यकारिणी की सदस्य रेखा भिडे , तरुणी सह प्रमुख केशवपुरम अंजू व स्निग्धा , प्रांत परिवार प्रबोधन सह संयोजिका वीना ,   सह बौधिक प्रमुख मंजू अरोड़ा , प्रांत प्रचार प्रमुख डॉ. सुनीता शर्मा , कार्यालय प्रमुख नीलू चौधरी ,   सह कार्यवाहिका केशवपुरम निरुपमा व अन्य गणमान्य महिलाओं ने सहभागिता की। इस दौरान मुख्य अतिथियों और गणमान्य अतिथियों को पटका व पर्यावरण का संदेश देते हुए पौधे दिए गए।

 

राष्ट्र सेविका समिति भारतीय महिलाओं का सबसे बड़ा और सुदृढ़ संगठन है जिसकी शाखाएं पूरे भारत में ही नहीं वरन विदेशों में भी फैली हुई हैं। भारत के 2380 शहरों , कस्बों और गांवों में समिति की 3000 शाखाएं चल रही हैं। समिति के 1000 सेवा प्रकल्प चल रहे हैं। दुनिया के 16 देशों में समिति की सशक्त उपस्थिति दर्ज हो चुकी है।

 

सेविका समिति सामाजिक , सांस्कृतिक और बौद्धिक धरातल पर 1936 से काम कर रही है। शाखाओं के माध्यम से समिति की सेविकाएं (सदस्या) समाज और देश के समग्र विकास में महत्वपूर्ण योगदान दे रही हैं।

 

इस बार करोना महामारी को ध्यान में रखते हुए राष्ट्र सेविका समिति के 8 विभागों ने अलग-अलग समय पर इस कार्यक्रम का आयोजन किया है जिसका मुख्य उद्देश्य यही है कि करोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाए।