इंद्रप्रस्थ विश्व संवाद केन्द्र


देश में 100 प्रतिशत कोरोना वैक्सीनेशन के लक्ष्य प्राप्ति के साथ कोरोना पर विजय प्राप्त करके भारत ने दुनिया को अपने ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ के रूप से पुनः परिचित कराया है. देश में बनी कोरोना की स्वदेशी वैक्सीन व दवाइयों द्वारा विश्व को दी गयी सहायता से देश की ‘विश्व कल्याण’ की शाश्वत भावना जगह-जगह प्रकट होकर और मजबूत हो रही है। विविधताओं से भरे इस देश में अनेकता में भी सांस्कृतिक व आध्यात्मिक एकता है, यही एक भारत श्रेष्ठ भारत होने का कारण है। उक्त विचार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की केंद्रीय कार्यकारिणी के सदस्य श्री इंद्रेश कुमार ने ई.बी.एस.बी,   देशबंधु महाविद्यालय ईकाई द्वारा 4 फरवरी को वर्चुअल माध्यम से आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये।

 

कार्यक्रम में सिक्किम से सम्बंधित विभिन्न वीडियो के प्रसारण द्वारा वहां की संस्कृति पर प्रकाश डाला गया। इस अवसर पर ई.बी.एस.बी   इकाई की नोडल अधिकारी डॉ. रूबी मिश्रा ने भी अपने विचार साझा किए , तत्पश्चात देशबंधु महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. राजीव अग्रवाल ने सभी को इकाई यह निर्मित करने की बधाई दी व मुख्य अतिथि वक्ता   श्री इंद्रेश कुमार का स्वागत किया।

 

देशबंधु महाविद्यालय के उपप्राचार्य   डॉ. कमल कुमार गुप्ता द्वारा अतिथि वक्ताओं को धन्यवाद ज्ञापित किया गया। ई.बी.एस.बी   इकाई की अध्यक्षा भव्या जैन द्वारा ई.बी.एस.बी   टीम का तथा कार्यक्रम में जुड़े सभी प्रतिभागियों का आभार प्रकट किया गया।

 

कार्यक्रम में दिल्ली विश्वविद्यालय के कई अध्यापकों तथा विद्यार्थियों सहित अन्य क्षेत्रों से भी 200 से ज़्यादा की संख्या में प्रतिभागी सम्मिलित हुए। कार्यक्रम का संचालन ईकाई के सदस्य   श्री प्रसून द्वारा किया गया।